ब्रेकिंग न्यूज

सुलतानपुर की 24 ग्राम पंचायतों में 31 लाख रुपए सरकारी धन की बंदरबांट


सुलतानपुर जिले के 8 ब्लॉकों के 2 दर्जन ग्राम पंचायतों में 31 लाख रुपए सरकारी धन के बंदरबांट की पुष्टि शासन स्तर पर हुई है। हैरानी इस बात पर है कि सुल्तानपुर की सांसद को भ्रष्टाचार और सख्त नफरत है, बावजूद इसके उनके ही क्षेत्र में भ्रष्टाचार पनप रहा है।दरअस्ल सितंबर माह में योगी सरकार ने पंचायती राज विभाग के लिए एक गाइडलाइन बनाया था। शासन ने विभाग को निर्देशित किया था कि ग्राम सचिवालयों में पंचायत गेट-वे पोर्टल इंस्टॉल कराकर ई-ग्राम स्वराज से सम्बंधित समस्त कार्य ग्राम सचिवालय में स्थापित कम्प्यूटर से सम्पादित हो।

इसकी समीक्षा शासन स्तर पर चल रही थी और जिला स्तर पर इसकी किसी को कानो-कान खबर नहीं थी। शासन के उच्च अधिकारियों ने जब पोर्टल की समीक्षा कराई तो जिले की 24 ग्राम पंचायतों द्वारा ग्राम सचिवालय में स्थापित कम्प्यूटर सिस्टम से भुगतान न करते हुए अन्यत्र कहीं से भुगतान की प्रक्रिया की गयी उसमें ये तथ्य खुला।यह 8 ब्लाकों की 24 ग्राम पंचायतों में कायदे कानून को दरकिनार करते हुए 31,17,729 रूपये का भुगतान नियम विरूद्ध ढंग से किया गया। इन आठ ब्लाकों में जयसिंहपुर ब्लॉक की 8, भदैंया ब्लॉक की 6, दोस्तपुर ब्लॉक की 3, कुड़वार व बल्दीराय ब्लॉक की 2-2 और धनपतगंज-दूबेपुर व कूरेभार की 1-1 ग्राम पंचायतें सम्मिलित हैं। इन सभी पंचायतों के सचिव एवं सम्बंधित डीपीएम के विरूद्व कठोर कार्यवाही करते हुए डीपीआरओ से 3 दिनों में आख्या मांगी गई है।

कोई टिप्पणी नहीं